Home > Breaking News > पुरी पीठ के शंकराचार्य जी ने शासनतंत्र को भेजा चेतावनी भरा सन्देश

पुरी पीठ के शंकराचार्य जी ने शासनतंत्र को भेजा चेतावनी भरा सन्देश

गोवर्धनमठ पुरी पीठाधीश्वर श्रीमज्जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी श्रीनिश्चलानन्द जी ने शासनतंत्र को संबोधित करते हुए एक चेतावनी भरा सन्देश दिया है। फेसबुक के माध्यम से प्रसारित सन्देश में प्रधानमंत्री मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गृहमंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी को टैग करते हुए श्री शंकराचार्य जी ने कहा,

हमारी शान्ति-प्रियता को केन्द्रीय और प्रान्तीय शासनतन्त्र दुर्बलता न समझे । पुरीपीठ के मान्य शङ्कराचार्य के रूप में स्वयं को ख्यापित कर विश्वस्तर पर अराजकता फैलाने वाले किसी भी व्यक्ति को हम सहन नहीं कर सकते।

क्या नकली-मुख्यमन्त्री, नकली-प्रधानमन्त्री, नकलीदलाईलामा और नकली-पोप को आप सह सकते हैं? यदि नहीं; तब पुरी के नकली शङ्कराचार्य को सहन करना क्या राष्ट्रद्रोहीका समर्थन नहीं है? धार्मिक और आध्यात्मिक क्षेत्रमें व्याप्त अराजकता तथा उन्माद की उपेक्षा या सहिष्णुता अथवा उसका गुप्त या प्रकट समर्थन राष्ट्रके अस्तित्व और आदर्शका अवश्य ही विघातक है।

यदि आप चर्चित अराजकतत्त्व का दमन नहीं करते , तब हम मानवाधिकार की सीमा में अपने दायित्व का निर्वाह करने से पीछे कथमपि नहीं हट सकते ।

मान्य श्रीयोगी जी ! आप जिस प्रान्त के मुख्यमन्त्री हैं , उस प्रान्त की यह गाथा है। मान्य श्रीमोदी जी ! आप की उस अराजकतत्त्व की उपेक्षा या उसके प्रति आपकी उदारता आप
की छवि को विकृत करने वाली है अथवा नहीं ? इस पर आप स्वयं सहृदयतापूर्वक विचार अवश्य करें।

इसी सन्देश को ट्विटर पर भी शेयर करते हुए लिखा, हमारी शान्ति-प्रियता को शासन तन्त्र दुर्बलता न समझे; पुरी-पीठ के मान्य शङ्कराचार्य के रूप में स्वयं को ख्यापित कर विश्वस्तर पर अराजकता फैलानेवाले किसी भी व्यक्ति को हम सहन नहीं कर सकते।

आपको बताते चलें कि इससे पूर्व भी श्री शंकराचार्य जी नकली शंकराचार्यों पर नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं। हाल ही में मठ के youtube channel पर वीडियो अपलोड करते हुए उन्होंने शासन तंत्र पर नाराजगी व्यक्त करे हुए मोदी, योगी और अमित शाह को शासन के लिए अयोग्य भी बताया था। श्री शंकराचार्य जी लगातार इस बात पर शासन को घेरते रहते हैं कि जब नकली प्रधान मंत्री, मुख्य मंत्री, पोप, दलाई लामा आदि नहीं बन सकते तो नकली शंकराचार्य क्यों? श्री शंकराचार्य जी ने अपनी वीडियो में यह भी कहा था कि उन्हें केवल इसलिए प्रताड़ित किया जाता है क्योंकि वे किसी पार्टी की दासता नहीं स्वीकारते।

Leave a Reply